Friday, September 5, 2014

शिक्षक दिवस पर


तुमने ही दी सतत शिक्षा हमेशा ज्ञान की
राह पर चलना सिखाया नीति और सम्मान की

सूरज सा तेज तुममे हैं और चांद सी शीतलता
स्रेह की बारिश से तुमने जीवन हमारा सींचाा

जब भी भटके हम तुमने रास्ता दिखाया
सही और गलत का फर्क तुमने ही सिखाया

शिक्षा हो विषय की या नैतिकता का ज्ञान
कहा था तुमने कि इतना कभी न झुकना 
कि झुक जाए स्वाभिमान

गुरु हो तुम हमारे, हो ईश्वर के समान
शिक्षक दिवस पर तुमको कोटि-कोटि प्रणाम

20 comments:

  1. वाह क्या बात है. सचमुच शिक्षक जीवन का पथ प्रदर्शक होता है, वो सर्वदा पूजनीय और सम्माननीय है.

    ReplyDelete
  2. सुन्दर
    शिक्षक दिवस की शुभकामना

    ReplyDelete
  3. इतना कभी न झुकना
    कि झुक जाए स्वाभिमान... :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. प्रतिक्रिया के लिए आभार

      Delete
  4. शिक्षक दिवस पर बहुत बढ़िया प्रेरक प्रस्तुति
    शिक्षक दिवस की हार्दिक मंगलकामनाएं!

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया अनु जी


    सादर

    ReplyDelete
  6. मैं भी एक शिक्षिका हूँ आपके शब्द अच्छे लगे !

    ReplyDelete
  7. जब भी भटके हम तुमने रास्ता दिखाया
    सही और गलत का फर्क तुमने ही सिखाया ..
    सच्चा गुरु ये सब सिखाता है ... बिना कहे .. बिना चाह के ...
    भावपूर्ण रचना ...

    ReplyDelete