Friday, August 15, 2014

कान्हा तुम ही मेरा प्यार हो


साज तुम्हीं, शृंगार तुम्हीं, तुम जीवन का आधार हो
हृदय तुम्हीं, धड़कन तुम्हीं, तुम ही मेरा प्यार हो

आदि तुम्हीं, अनादि तुम्हीं, तुम ही अनन्त का सार हो
रग-रग में बहता लहू हो तुम, जीवन की रसधार हो

धर्म तुम्हीं, अधर्म तुम्हीं, प्रतिशोध तुम ही, प्रतिकार हो
भक्ति तुम्हीं, समर्पण तुम्हीं, स्वप्न तुम ही साकार हो

गोपियों के हो कन्हइया तुम, यशोदा का संसार हो
मीरा के तुम गिरधर नागर, राधा के प्राणाधार हो

कान्हा तुम्हीं, केशव तुम्हीं, तुम ही नंद के लाल हो
मंद-मंद मुस्कान लिए तुम सबके खेवनहार हो

जन्म दिवस है आज तुम्हारा, तुम्हें समर्पित नेह है सारा
सभी मंगल गीत हैं गाएं, तुम ही हर मां का दुलार हो

गायों के तुम, ग्वालों के तुम, सिर मोर मुकुट चितचोर हो
आशा तुम्हीं, अभिलाषा तुम्हीं, मेरे जीवन की डोर हो

साज तुम्हीं, शृंगार तुम्हीं, तुम जीवन का आधार हो
हृदय तुम्हीं, धड़कन तुम्हीं, तुम ही मेरा प्यार हो