Wednesday, June 11, 2014

एसिड अटैक फाइटर

एक छोटी लड़की
यही कोई 15-16 साल की
मस्ती में झूमती, कुछ गाती, गुनगुनाती
चली जा रही थी अपनी ही धुन में 
उसकी छोटी-छोटी आंखों में 
बड़े-बड़े कुछ सपने थे
चाहत थी जिंदगी में कुछ करने की
खुद को अलहदा साबित करने की
कि अचानक सामने से आते एक लड़के ने
फेंक दिया उसके ऊपर तेजाब....
जिस से जल गया उसका शरीर
और उससे भी कहीं ज्यादा
शायद झुलस गया था उसका मन
वो जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही थी
और उसके अपराधी खुलेआम
सड़कों पर घूम रहे थे
लेकिन लड़की ने हिम्मत नहीं हारी
खुद को संभाला उसने और
एक बार फिर उठ खड़ी हुई
अपनी लड़ाई आप लड़ने के लिए
कुछ ही समय में उसने दिला दी
अपने अपराधियों को सजा और
दिखा दिया दुनिया को कि वो 
वाकई में है सबसे अलहदा
आज फिर उसकी आंखों में 
पहले जैसी चमक थी और चेहरे पर रंगत
क्योंकि बन गई थी वह 
हर लड़की के लिए प्रेरणा स्रोत
अब वह एसिड अटैक विक्टिम नहीं
एसिड अटैक फाइटर थी। 

21 comments:

  1. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 12-06-2014 को चर्चा मंच पर चर्चा - 1641 में दिया गया है
    आभार

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया दिलबाग जी।।।

      Delete
  2. प्रेरक प्रस्तुति।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद सि्मता

      Delete
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया प्रतिभा जी।।।

      Delete
  4. आपकी इस प्रस्तुति को आज कि बुलेटिन ब्लॉग बुलेटिन - थोड़ी हँसी, थोड़ी गुदगुदी में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छा ज़ी | लगे रहें .....

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद।।।
      कोशिश जारी रहेगी :)

      Delete
  6. बहुत सुंदर और प्रेरक हर लडकी को बनाये जुझारू।

    ReplyDelete
  7. सुन्दर प्रस्तुति। सादर धन्यवाद।।

    नई कड़ियाँ : रामसेतु : राष्ट्र धरोहर घोषित करेगा केन्द्र सरकार

    हिन्दी का नया और बेहतरीन वेब पोर्टल :- हिन्दपीडिया

    नई प्रविष्टि :- भिक्षुक

    ReplyDelete
  8. अतिसुन्दर खूबसूरत कथ्य...

    ReplyDelete
  9. मर्मस्पर्शी एवं प्रेरणा दायक।

    सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका आभार।।।

      Delete
  10. कल 15/जून/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद !

    ReplyDelete